Home उत्तराखंड पोलिंग पार्टियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए तैयार रखे आकस्मिक प्लानः जिला...

पोलिंग पार्टियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए तैयार रखे आकस्मिक प्लानः जिला निर्वाचन अधिकारी

4
0

चमोली:बद्रीनाथ विधानसभा उप निर्वाचन के दौरान भारी वर्षात की संभावना को देखते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी हिमांशु खुराना ने मंगलवार को सभी नोडल अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि चुनाव के दौरान आकस्मिक परिस्थितियों से निपटने के लिए प्लान-बी के रूप में कार्ययोजना तैयार की जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वर्षात के मौसम में भूस्खलन और जल भराव से सड़क मार्गाे के अवरूद्व होने की प्रबल संभावना है। उन्होंने निर्देशित किया कि सड़क मार्गाे पर संवेदनशील स्थलों को चिन्हित करते हुए पर्याप्त संख्या में श्रमिक और जेसीबी तैनात की जाए। चिन्हित स्थलों पर पोलिंग पार्टियों के पारगमन के लिए दोनों ओर से आवश्यक संख्या में वाहनों को तैनात रखा जाए। सभी वाहनों पर जीपीएस की व्यवस्था रहें। अपरिहार्य परिस्थितियों से निपटने के लिए वैकल्पिक मार्गाे को भी चिन्हित करें। ब्लॉक अधिकारी मतदेय स्थलों के पैदल मार्गाे को दुरुस्त रखें। बारिश में मतदान कर्मियों, सुरक्षा बलों और ईवीएम एवं अन्य मतदान सामग्री की सुरक्षा के लिए रेनकोट, बरसाती की समुचित व्यवस्था की जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि बूथ हेल्थ मैनेजमेंट प्लान को अपरिहार्य परिस्थितियों के अनुरूप बनाया जाए। एम्बुलेंस एवं आवश्यक औषधि सहित प्रत्येक क्षेत्र में चिकित्सा दलों की तैनाती सुनिश्चित की जाए। मतदेय स्थलों पर विद्युत, पेयजल, क्यू-शेड के साथ ही मतदान कार्मिकों के ठहरने हेतु वैकल्पिक व्यवस्था भी सुनिश्चित करें।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने लोनिवि, आरडब्लूडी, पीएमजीएसवाई, बीआरओ तथा सड़क मार्ग से संबधित अन्य विभाग, विद्युत, पेयजल, चिकित्सा, आपदा प्रबंधन और तहसील प्रशासन को आपस में निरंतर समन्वय रखते हुए अपरिहार्य परिस्थिति से निपटने हेतु प्लान के साथ सजग और सर्तक रहने के निर्देश दिए।

बैठक में अपर जिला निर्वाचन अधिकारी अभिनव शाह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी विवेक प्रकाश, पोखरी एसडीएम कमलेश मेहता, जोशीमठ एसडीएम सीएस बशिष्ठ, लोनिवि के अधिशासी अभियंता राजवीर सिंह चौहान, ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता अला दिया, आपदा प्रबंधन अधिकारी एनके जोशी, चुनाव व्यवस्थाओं से जुड़े सभी नोडल अधिकारी सहित सड़क, विद्युत, पेयजल, परिवहन आदि विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।