Home उत्तराखंड दृढ़ निश्चय सफलता की कुंजी: डॉ सैनी

दृढ़ निश्चय सफलता की कुंजी: डॉ सैनी

4
0

गोपेश्वर: चमोली के मुख्यालय गोपेश्वर में ई-लाइबेरी का निर्माण किया गया है जिसमें प्रतिदिन 125 से अधिक पाठक नियमित रूप से आते हैं। जिनमें बड़ी संख्या प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों की है। जिलाधिकारी श्री हिमांशु खुराना की पहल पर पुस्तकालय में आने वाले पाठकों को प्रेरित करने व उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं पर तैयारी करने हेतु टिप्स देने के लिए सफल व्यक्तियों से परिचर्चा हेतु प्रेरणा श्रृखला कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया है। इस कार्यक्रम में आज दिनांक 26 सितम्बर, 2023 को संयुक्त मजिस्ट्रेट डॉ० दीपक सैनी द्वारा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले पाठकों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए मागदर्शन दिया गया। उन्होने कहा कि सफल होने के लिए दृढ निश्चयी होना जरूरी है। अपना लक्ष्य चुनें और योजना बनायें। तैयारी की प्रक्रिया में योजना बनाते समय दैनिक, दीर्घकालिक एवं अल्पकालिक श्रेणी में लक्ष्यों को बांटें। सबसे पहले प्रतियोगी परीक्षा का पाठ्यक्रम देखें। गत वर्ष के प्रश्नपत्रों का अध्ययन कर पैर्टन समझें तथा अपनी दिनचर्या में कुछ निश्चित समय जिस परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं उसको दें। आपके सामने भटकाव आयेंगे जिनमें, सोशल मीडिया / इण्टर नेट से जुड़ी चीजें व आपके परिवेश से जुड़ी चीजें हो सकती हैं। इनसे बचना आवश्यक है। अपना SWOT Analysis करें देखें कि कौन से आपके व्यक्तिगत एवं अकादमिक के कौन से क्षेत्र मजबूत और कमजोर है। और क्या चुनौतियां एव अवसर आपके सामने आ सकते है । चुनौतियों से विचलित नहीं होना है। और सतत प्रयास जारी रखना है।

पढते समय यह भी ध्यान रखे कि वर्तमान में सूचना का अत्यधिक प्रवाह है। अतः आपके अन्दर यह क्षमता होना आवश्यक है कि किस सूचना पर ध्यान और किसे छोड़ दिया जाय। उन्होनें यह भी कहा कि अपनी Hobbies के लिए भी समय दें ताकि आप तनाव और एन्जाइटी की वजह से परेशान न हों। आप जो भी पढें आगे बढने के साथ-साथ उसकी पुनरावृत्ति भी करते रहें। छोटे-छोटे लक्ष्य रखकर आगे बढ़ें और लक्ष्य प्राप्त होते ही अगले लक्ष्य की ओर बढ़ें। चर्चा करना अच्छा हैं लेकिन वाद विवाद में पड़कर समय न गवांये । निरर्थक वाद-विवाद आपके व्यक्तित्व को भी प्रभावित करता है । परीक्षा देने के बाद प्रश्नपत्रों से उन क्षेत्रों की सूची बनायें जिसमें आपको लगता है कि आपने ठीक नहीं किया है, और उन पर कार्य करना शुरू करने ताकि अगली बार वे गलतियां न दोहराई जायें। उन्होंने विद्यार्थियों की व्यक्गित जिज्ञासाओं का भी उत्तर दिया जो कि उनके अकादमिक सामाजिक तथा पारिवारिक जीवन से भी सम्बन्धित थी । इस अवसर पर उन्होने सभी को सफल होने की शुभकामनायें दी। इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी कुलदीप गैरोला, खण्ड शिक्षा अधिकारी पंकज उप्रेती भी उपस्थित रहे।