Home उत्तराखंड अच्छी खबर:500 मीट्रिक टन क्षमता वाली मोबाइल स्टोरेज यूनिट (MSU) को सफलतापूर्वक...

अच्छी खबर:500 मीट्रिक टन क्षमता वाली मोबाइल स्टोरेज यूनिट (MSU) को सफलतापूर्वक स्थापित करने वाला देश का पहला राज्य बना उत्तराखंड

19
0

देहरादून*: आज प्रदेश की खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों की मंत्री रेखा आर्या ने खाद्य विभाग एवं WFP(वर्ल्ड फ़ूड प्रोग्राम)द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की जहां वर्ड फ़ूड प्रोग्राम के बारे में विभिन्न वक्ताओं ने इसकी उपयोगिता और किये गए कार्यो के बारे में विस्तृत से बताया।

खाद्य मंत्री ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि भारत में विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के सहयोग से, पहाड़ी राज्य अपने टीपीडीएस की आपूर्ति श्रृंखला का अनुकूलन करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है, जिसकी पहुंच 300 से अधिक तक है। हरिद्वार में अनाज के भंडारण के लिए 500 मीट्रिक टन क्षमता वाली मोबाइल स्टोरेज यूनिट (MSU) को सफलतापूर्वक स्थापित करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन गया है। हाल के कुंभ मेले के दौरान, MSU ने राज्य के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के विभाग को खाद्यान्न की निर्बाध आपूर्ति प्रदान करने में सक्षम बनाया।

खाद्य मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि खाद्य विभाग और वर्ल्ड फ़ूड प्रोग्राम के मध्य वर्ष 2020 के फरवरी माह में विभिन्न बिन्दुओ को लेकर एक MOU पर हस्ताक्षर हुए थे जिनके तहत परिवहन की लागत में कमी के लिए सम्पूर्ण टीपीडीएस नेटवर्क की आपूर्ति का ऑप्टिमाइजेशन करना, भंडारण हानियों को कम करने के लिए मोबाइल भंडारण इकाइयों के उपयोग करना, डेटा संग्रह के लिए एक मोबाइल एप का उपयोग करना सहित कई शामिल हैं जिसमे से वर्ल्ड फ़ूड प्रोग्राम(WFP)द्वारा एक मोबाइल स्टोरेज यूनिट हरिद्वार जनपद के ज्वालापुर गोदाम में स्थापित की जा चुकी है साथ ही एक नैनीताल के रामनगर में स्थापित किया जाना है जिसका कार्य प्रगति पर है।

वहीं इसके अलावा WFP ने एक मोबाइल एप खाद्य विभाग को उपलब्ध कराया है जिससे विभाग के 196 गोदामो तथा करीब 9100 दुकानों के जीओ कॉर्डिनेट्स लिए गए हैं। कहा कि इसी प्रकार से WFP व खाद्य विभाग द्वारा देहरादून जनपद के धर्मपुर में ग्रीन एटीएम की स्थापना की गई है,राज्य में डोर स्टेप डिलीवरी हेतु जीपीएस ट्रैकिंग एप उपलब्ध कराया गया है जो वर्तमान में 15 गोदामों पर सफलतापूर्वक चल रहा है साथ ही PMGKAY के प्रचार प्रसार हेतु बैनर पोस्टर भी उपलब्ध कराये गए हैं।

खाद्य मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि ऐसी संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य करने से राज्य को नई ऊंचाईयां प्राप्त होंगी। विश्व खाद्य कार्यक्रम ने पूर्व में भी कई राज्यों के साथ मिलकर कार्य किया है किन्तु उत्तराखण्ड का भौगोलिक स्वरूप आपूर्ति श्रृंखला एवं गोदाम प्रबन्धन को बहुत बड़ी चुनौती प्रस्तुत करता है और प्रभावित करता है लेकिन ऐसे कार्यक्रम निश्चित ही आपदा के समय में आने वाली समस्याओं में दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्रों को भी खाद्यान्न की कमी को दूर करने में कारगर सिद्ध होते हैं।

इस अवसर पर कार्यक्रम में Country Director Un World Food Programme श्री Eric kenefick जी, डायरेक्टर Ericsson India Global श्री राजेश गुप्ता जी ,Ericsson India Global के कंपनी सचिव श्री अमित शंकर कश्यप जी, सचिव खाद्य एवं श्री बृजेश कुमार संत जी, एडिशनल कमिश्नर खाद्य श्री पीएस पांगती जी सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।