Home उत्तराखंड मंत्री रेखा आर्या ने बाल देख-रेख गृहों के बच्चों के साथ धूमधाम...

मंत्री रेखा आर्या ने बाल देख-रेख गृहों के बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया प्रदेश के मुखिया का जन्मदिन।

1
0

देहरादून:-* प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के जन्मदिवस के अवसर पर रेखा आर्या मंत्री महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, खेल एवं युवा कल्याण, स्वाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उत्तराखण्ड के दिशा-निर्देश के क्रम में शासकीय एवं गैर शासकीय, बाल देख-रेख संस्था, जनपद देहरादून एवं हरिद्वार के बच्चों हेतु खेल एवं मनोरंजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मंत्री रेखा आर्या एवं बाल देख-रेख के बच्चों द्वारा केक काटकर बड़े हर्षोल्लास से मुख्यमंत्री धामी के जन्मदिवस को मनाया गया।

महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने परेड ग्राउंड बहुउद्देशीय क्रीड़ा हॉल में “बाल देखरेख संस्थाओं” के बच्चों के साथ *केक काटकर* मुख्यमंत्री धामी का जन्मदिवस बहुत धूमधाम से मनाया।

कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम में बहुत बच्चों द्वारा रंगारंग प्रस्तुतियां दी गयी जिन्होंने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। योगा में देहरादून से शिशु निकेतन, अपना घर, बालिका निकेतन, मैक्काम मिनिस्ट्री संस्थाओं कें बच्चों द्वारा अदभुत प्रस्तुति दी गयी।

वहीं कार्यक्रम में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास एवं खेल विभाग द्वारा समन्वित प्रयास से बहुउद्देश्यीय खेल सभागार परेड ग्राउण्ड में बच्चों हेतु खेल प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।

प्रतियोगिता में चम्मच दौड़, 100 एवं 200 मी0 दौड़, रस्साकसी, म्यूजिकल चेयर एवं योगा व डांस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन हेतु मिक्की माउस जम्पिंग झुला, रिंग थ्रो एवं झुले की भी व्यवस्था की गयी थी। खेल प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाने वाले विजेता को मंत्री रेखा आर्या द्वारा सम्मानित किया गया।

मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री धामी ने अपने जन्मदिवस को युवा संकल्प दिवस के रूप में समर्पित किया है। इसलिए आज पूरा प्रदेश उनके जन्मदिवस को युवा संकल्प दिवस के रूप में मना रहा है। उन्होंने कहा कि आपके मुख्यमंत्री हम सब के मुख्यमंत्री हमारे हितों में लगातार किस प्रकार का निर्णय कर रहे हैं और लगातार हमारी भलाई के लिए क्या-क्या काम कर रहे हैं आप सभी को पता होगा कि कोरोनाकाल में किस प्रकार से मुख्यमंत्री ने वात्सल्य योजना देकर हर एक बच्चे तक पहुंचने का काम किया और अपने मामा की भूमिका का फर्ज निभाया। वहीं बच्चों के लिए 5% का आरक्षण भी देने का काम किया था कि हमारे बच्चे आने वाले समय में हमारी सरकार उनके अभिभावक की भूमिका में रहते हुए उनको हम लोग सुरक्षित कर पाए इसी दिशा में उत्तराखंड देश का पहला राज्य होगा जो 5% का अपना आरक्षण दे रहा है। उन्होंने कहा कि एक छोटे से आरक्षण को प्राप्त करने के लिए कितने बड़े युद्ध होते हैं लेकिन मुझे लगता है कि पहले ऐसे मुख्यमंत्री है जिनके अंदर अपने बच्चों के लिए वह भाव उत्पन्न हुआ और उसी उत्पन्न भाव को उन्होंने वैधानिक रूप देते हुए पांच प्रतिशत का आरक्षण दिया और वह इतना ही नहीं रुक मुझे लगता है कि जो जो प्रस्ताव हमारे बच्चों के हित के लिए बेहतरीन हो सकते हैं उसको भी उन्होंने लगातार अपना सहयोग प्रदान किया। कहा कि बच्चों के लिए जितनी जरूरी शिक्षा है उतना ही जरूरी बच्चों के जीवन मे खेल भी महत्व रखता है। बच्चा खेल कूद कर भी आत्मनिर्भर बन सकता है।
कार्यक्रम में मंत्री रेखा आर्या द्वारा मुख्यमंत्री के जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए यह संदेश दिया कि राज्य के भावी युवाओं के साथ राज्य के युवा एवं यशस्वी मुख्यमंत्री के जन्मदिवस को मनाना बड़े हर्ष एवं गौरान्वित करने वाला क्षण है एवं राज्य सरकार बच्चों एवं युवाओं के कल्याण के लिए सदैव कार्य करने के लिए तत्पर एवं संकल्पबद्ध है।

श्री दीपक गुलाटी, सदस्य उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने माननीय मुख्यमंत्री जी के जन्म दिवस पर सभी प्रतिभागी बच्चों और कार्मिकों के साथ साथ समस्त प्रदेशवासियों को बधाई दी और माननीय मुख्यमंत्री की लंबी आयु की कामना करने के साथ समस्त प्रदेशवासियों से माननीय मुख्यमंत्री की दीर्घायु की प्रार्थना करने की बात कही, उन्होंने कहा के आयोग के सदस्य के रूप में बच्चों को खुश देखकर वह प्रसन्नता महसूस कर रहे हैं । युवा कल्याण दिवस के रूप में माननीय मुख्यमंत्री जी का जन्म दिवस मनाया जाना एक गर्व का विषय है

कार्यक्रम में प्रशांत आर्य, अपर सचिव / निदेशक, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग, जितेन्द्र सोनकर निदेशक खेल विभाग, मोहित चौधरी मुख्य परिवीक्षा अधिकारी, विक्रम सिंह उपनिदेशक, अंजना गुप्ता उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी, मीना बिष्ट जिला प्रोबेशन अधिकारी, सुश्री निधि बिंजोला जिला क्रीड़ा अधिकारी व खेल एवं महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास महिला कल्याण के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी आदि उपस्थित रहे।