Home उत्तराखंड देहरादून में देशभर के रेशम उत्पादकों का सात दिवसीय...

देहरादून में देशभर के रेशम उत्पादकों का सात दिवसीय मेला होगा आयोजित

21
0

देहरादून सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा है कि, देशभर के सिल्क उत्पादकों सात दिवसीय मेला- प्रदर्शनी देहरादून में आयोजित की जाएगी। इसमें केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री को आमंत्रित किया जाएगा।

सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत आज शुक्रवार शाम 4:00 बजे राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना निदेशालय देहरादून में सहकारिता के अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। उन्होंने उत्तराखंड कोऑपरेटिव रेशम फेडरेशन के अधिकारियों को निर्देश दिए कि, वह देहरादून में देश भर के सिल्क उत्पादो का 7 दिवसीय मेला- प्रदर्शनी आयोजित करने की तैयारियां कर ले। केंद्रीय कपड़ा मंत्री व मुख्यमंत्री इस मेले का उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि, सभी प्रदेशों के सिल्क उत्पादक का काम करने वालों को आमंत्रित करने की प्रक्रिया आरंभ कर दें।
इस मेले से दून सिल्क को देश भर में पहचान मिलेगी। इस मेले में देश भर के रेशम से बने हुए वस्त्रों की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। गौरतलब है कर्नाटक , तमिलनाडु, तेलंगाना के दक्षिणी राज्यों में रेशम के उत्पाद देहरादून में खरीदने को मिलेंगे।

डॉ रावत ने कहा कि उत्तराखंड कोऑपरेटिव रेशम फेडरेशन अच्छा काम कर रहा है। लाल बहादुर शास्त्री आईएएस अकैडमी में आईएएस प्रशिक्षुओं ने सिल्क वस्त्रों को खरीदारी में अच्छी रूचि दिखाई है। डॉ रावत ने कहा कि,उत्तराखंड के समस्त विश्वविद्यालयों के सभी दीक्षांत समारोह में पहने जाने वाले परिधान दून सिल्क के होंगे।

सहकारिता मंत्री डॉ रावत ने रेशम कोऑपरेटिव फेडरेशन, प्रादेशिक कोऑपरेटिव यूनियन, उत्तराखंड सहकारी संघ की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि कोऑपरेटिव के यह तीनों संस्थान अपना ढांचा और आगमी वर्ष का बिजनेस प्लान बनाएं।

उन्होंने कहा कि कॉपरेटिव के यह तीनों संस्थान से जुड़े हुए लोग पांच- पांच राज्यों में अध्ययन करने के लिए जाएंगे। अध्ययन रिपोर्ट विभाग को सौंपेंगे

उन्होंने 13 प्रगतिशील किसान जो विदेशों में शैक्षणिक भ्रमण करने के लिए भेजे जा रहे हैं। उनके चयन के लिए तेजी लाने के निर्देश दिए। अपर निबंधक श्रीमती ईरा उप्रेती ने बताया कि सभी जनपदों के प्रगतिशील किसानों के नाम आ गए हैं अल्मोड़ा जनपद का नाम आना शेष है।

मंत्री डॉ रावत ने तीनों शीर्ष संस्थाओं से प्रॉफिट का डाटा भी लिया। उन्होंने आगामी वर्ष का प्रॉफिट और बिजनेस बढ़ाने के निर्देश दिए ।सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने बताया कि तीनों फेडरेशन एक- एक करोड़ रुपए की लाभांश में है। डॉ पुरुषोत्तम ने प्रादेशिक कोऑपरेटिव यूनियन के प्रबंध निदेशक को निर्देश दिये कि, वह कॉपरेटिव के कर्मचारियों, एडीओ एडीसीओ के ट्रेनिंग प्रोग्राम पर विशेष रूप से ध्यान दें।

समीक्षा बैठक में उत्तराखंड सहकारी संघ के चेयरमैन श्री मातबर सिंह रावत, उत्तराखंड कोऑपरेटिव रेशम फेडरेशन के अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह, प्रादेशिक कोऑपरेटिव यूनियन के चेयरमैन श्री राम मेहरोत्रा, अपर निबंधक ईरा उप्रेती, श्री आनंद शुक्ल, श्री नीरज बेलवाल, रामिन्द्री मंद्रवाल , श्री मान सिंह सैनी, श्री मातबर कंडारी, श्री त्रिभुवन सिंह रावत, सहित अनेक अधिकारी मौजूद थे।