Home उत्तराखंड एक ऐसे अध्यापक जिन्होंने स्वयं के संसाधनों से तैयार की स्मार्ट क्लास

एक ऐसे अध्यापक जिन्होंने स्वयं के संसाधनों से तैयार की स्मार्ट क्लास

31
0

गैरसैण: चमोली जिले की विकासखँड गैरसेण का दूरस्थ विघालय रा इ का मरोडा जो इसकी अति दुर्गमता के कारण शायद बहुत कम लोग इस विद्दालय के बारे मे जानते होँगेँ।लेकिन विद्दालय कुछ समय से काफी चर्चा मे रहा है,इसका कारण हैँ यहाँ के अध्यापक श्री लखपत सिँह रावत जो सहायक अध्यापक सामाजिक विज्ञान के पद पर नियुक्त हैँ रावत जी ने अपने संसाधनोँ द्दारा ही अपनी कक्षा को हाईटेक बना दिया। वे कक्षा लैपटाप को स्क्रीन से जोडकर पढाते है।उन्होने विद्दालय के एक कक्ष को खुद के खरीदे उपकरणोँ से सुसज्जित किया है,इस ई-क्लास के लिऐ उन्होने 55इंच का थ्री-डी इफेक्ट वाला एलईडी खरीदा।बिजली जाने से कक्षा अध्यापन मे बाधा न आये इसके लिए इनवर्टर भी क्रय किया।इस सबका यह परिणाम हुआ कि उनकी शिक्षण प्रक्रिया अत्यन्त रोचक ओर हाईटेक हो गई,जिससे छात्र छात्राओ मे उनके विषय के प्रति रूचि ओर एकाग्रता बढी है।रावत जी का यह प्रयास हम सबके लिऐ एक मिसाल एंव प्रेरणादायी है कि स्कूल का सुगम या दुर्गम क्षैत्र मे स्थित होना कोई बडा मुद्दा नही होता,असल मे हमारे प्रयासो मे ईमानदारी ओर कत्तर्व्य के प्रति निष्ठा आवश्यक होती है।खासकर तब जबकि किसी भी समाज या राष्ट के भविष्य का निर्माण स्कूलो के इन्ही कक्षाओँ मे होता है।लखपत भाई हमे आप पर गर्व है।