Home उत्तराखंड जर्जर स्कूलों को ठीक किया जाये :राम सिंह कैड़ा

जर्जर स्कूलों को ठीक किया जाये :राम सिंह कैड़ा

15
0

सरोवर नगरी जनपद नैनीताल के भीमताल में जिले के शिक्षा विभाग के साथ भीमताल विधायक राम सिंह कैड़ा ने बैठक की ।
बैठक में चंपावत जिले के स्कूल के भवन मैं दबने से हुई स्कूली छात्रा की मौत के बाद जिला प्रशासन को जर्जर हालत मैं जिले के विद्यालय को जल्द से जल्द ठीक करने के को कहा गया।
ताकि कोई अनहोनी ना हो सके नैनीताल जिले के 63 प्राथमिक और इंटर कॉलेजों के जर्जरों भवनों में सैकड़ों बच्चे जान हथेली पर रखकर पढ़ने को मजबूर हैं. 119 जर्जर शौचालयों जीर्णशीर्ण हैं।
और इनकी दशा नहीं सुधारी गई तो कभी भी कोई अनहोनी हो सकती है.

शासन ने जर्जर भवनों की सुध नहीं ली तो जिले में भी चंपावत के पाटी तहसील के मौनकांडा प्राथमिक विद्यालय जैसी घटना हो सकती है. ।
शिक्षा विभाग के मुख्य शिक्षा अधिकारी के एस रावत ने बताया जर्जर भवनों और शौचालयों की मरम्मत के लिए शिक्षा निदेशालय से बजट की मांग की गई है ।लेकिन अभी तक बजट की मंजूरी नहीं मिली है.
प्रत्येक विकासखंड के विद्यालयों में हैं जर्जर भवन
जिले के आठों विकासखंडों प्राथमिक से इंटरमीडिएट तक 63 विद्यालय भवन जर्जर हाल हैं. ।
बरसात के दिनों में इन विद्यालयों में पठन-पाठन के दौरान अक्सर किसी अनहोनी का भय बना रहता है. वही भीमताल ब्लॉक, के ओखलकांडा, धारी रामगढ़ सहित विद्यालय के जर्जर भवन को लेकर विधायक ने राज्य सरकार से बात कर जल्द से जल्द ठीक करने की बात कही।
श्री रावत ने कहा जो भी स्कूल के भवन जीर्ण शीर्ण हो रहे हैं उसमें कदापि बच्चों को न पढ़ाया जाये।

Previous articleसरकार का संकल्प पूर्ण पारदर्शीता से जनसेवा करना :डॉ धन सिंह रावत
Next articleलम्पी बीमारी को लेकर पशुपालन विभाग ने उपचार किया शुरू