Home उत्तराखंड सोमेश्वर में ,मूसलाधार बारिश के कारण कई घरों में घुसा मलबा।

सोमेश्वर में ,मूसलाधार बारिश के कारण कई घरों में घुसा मलबा।

59
0

सोमेश्वर (अल्मोड़ा) सोमेश्वर घाटी में बुधवार की रात को अतिवृष्टि के चलते कई घरों में बारिश का पानी और मलवा घुस गया जिससे कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है। मौसम विभाग की भविष्यवाणी सटीक साबित हुई दोपहर बाद अल्मोड़ा में मौसम ने मिजाज बदला और बारिश शुरू हुई बारिश के चलते जहां जंगलो में धधक रही आग से राहत मिली है तो शहर में छाये धुंध छटने लगी है, जिससे स्वास व दमा के मरीजो ने भी थोड़ा राहत की सांस ली है। वही जंगलों में धधक रही आग से थोड़ा राहत मिली है। वहीं अल्मोड़ा के सोमेश्वर में कल भारी बारिश हुई हैं. स्थानीय लोगो का दावा हैं कि बादल फटा है। जिससे कई घरों में पानी घुसने कि खबर आ रही हैं. वहीं पहली बारिश ने कुमाऊं में तबाही मचा दी। बताया जा रहा है कि यहां छोटे बड़े किसानों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

अल्मोड़ा सोमेश्वर मे बादल फटने से सोमेश्वर के चनौदा में खूब तबाही मची है। बादल फटने से लोगों के घरों में मलबा घुस गया। एक ट्रक और एक कार मलबे में दब गए, वहीं बोल्डर और मलबा आने से अल्मोड़ा-कौसानी राजमार्ग बन्द हो गया। इससे सैकड़ों लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सोमेश्वर क्षेत्र में बुधवार सुबह से ही मौसम पल पल रंग बदलता रहा। बुधवार शाम करीब साढ़े सात बजे एकाएक बिजली कड़कने लगी। बताया जा रहा है कि इस बीच जोरदार धमाके के साथ छतार के जंगल में बादल फट गया। इससे बाघ गधेरा ऊफान पर आ गया ओर गधेरे का मलबा चनोदा में रह रहे करीब एक दर्जन घरों में घुस गया। मलबे के वेग ने घरों के दरवाजे और खिड़कियां तोड़ दीं। दुकानों में रखा सामान तहस-नहस कर दिया इससे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान करीब आधे घंटे तक लोग ख़ौफ के साए में रहे ओर प्रभावित लोगों को सर छुपाने के लिए आसपास के घरों में शरण लेनी पड़ी। बताया जा रहा है कि लोगों को संपत्ति का काफी नुकसान हुआ है।प्रभावित लोगों ने प्रशासन से तत्काल राहत दिलाने की मांग की है।

बाघ गदेर से ऊफान पर आया मलबा लोगों के लिए मुसीबत बनकर आया। मलबे की चपेट में एक ट्रक और एक कार भी आ गई। साथ ही मलबा लोगों के घरों और दुकानों में घुस गया। इससे लोगों को भारी नुकसान हुआ है। कई लोगों के फर्नीचर और घरेलू समान मलबे में पट गया है। ,प्रशासन भी सुबह मौके पर पहुंचा व लोक निर्माण विभाग द्वारा मलबा हटाने के काम किया जा रहा है।