Home उत्तराखंड मेले हमारी संस्कृति के धरोहर हैं:अनिल नौटियाल

मेले हमारी संस्कृति के धरोहर हैं:अनिल नौटियाल

61
0

चमोली: कर्णप्रयाग ब्लॉक के कंडारा क्षेत्र के दर्जनों गांवों ने अपने गांवों की संस्क्रति ओर एकता को बनाये रखने के मकसद से दशोली दिवा पर्यावरण एवम सहकारिता विकास मेले का कोट कंडारा में आयोजित किया।
पहली बार आयोजित हो रहे मेले का शुभारंभ कर्णप्रयाग विद्यायक अनिल नौटियाल एवम डीसीबी अद्ययक्ष गजेंद्र रावत ने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम में महिला मंगल दलों ने स्वागत गान के साथ सांस्कृतिक जनजागरूकता को लेकर भी कार्यक्रम प्रस्तुत किये।
कार्यक्रम का संचालन जिलापंचायत सदस्य लक्ष्मण रावत ने किया।

डीसीबी अद्ययक्ष चमोली गजेंद्र रावत ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रो में मेलो का आयोजन किया जाना चुनोतिपूर्ण रहता है लेकिन इसके बावजूद भी कंडारा में जिस तरह की भव्यता से मेले का आयोजन किया गया वह काबिले तारीफ है और मेले हमारी संस्क्रति की धरोहर है।
वही कर्णप्रयाग विद्यायक अनिल नौटियाल ने मेले की बधाई देते हुए कहा कि कंडारा मेले के आयोजकों ने जिस तरह से हमारी संस्कृति को बचाये रखने के लिए आयोजन किया है इससे सरकार की योजनाओं के साथ जनजागरूकता अभियान का लाभ भी लोगो को मिलता है, वही मेले हमे आपस में जोड़े रखती है, हमे गांवों से ओर अपनी संस्कृति से जोड़ने के लिए अहम भूमिका निभाते हैं।

इस दौरान जिला पंचायत सदस्य जाख वार्ड विनोद नेगी, प्रेम सिंह राणा, राकेश नेगी, महावीर सिंह, बीरेंद्र रावत पूर्व जिला अद्ययक्ष कांग्रेस, विजेंदर सिंह, मनोज सिंह दिगपाल सिंह,

मेला अद्ययक्ष महेंद्र सिंह, सरंक्षक लक्ष्मण सिंह, सचिव मनोज सिंह, डीएस पुंडीर, ओर इस पूरे मेले के सूत्रधार सुधीर रावत क्षेत्र के ग्राम प्रधान एवम महिला मंगल दल संगठन मौजूद रहे।