Home उत्तराखंड पर्यटकों को प्रकृति से रूबरू करवाएंगे नेचर गाइड

पर्यटकों को प्रकृति से रूबरू करवाएंगे नेचर गाइड

6
0

चमोली : जिले में आने वाले पर्यटकों को प्रकृति से जोड़ने के लिए नेचर गाइड की टीम तैयार की जा रही है। हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल विश्वविद्यालय द्वारा पर्यटन विभाग के सौजन्य से शुक्रवार को पीजी कॉलेज गोपेश्वर में 10 दिवसीय पर्यटक गाइड प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया गया है। मुख्य विकास अधिकारी डॉ ललित नारायण मिश्र ने गाइड प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसमें 31 युवा गाइड का प्रशिक्षण ले रहे है।

मुख्य विकास अधिकारी ने गाइड प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए इसमें प्रतिभाग करने वाले सभी युवाओं को शुभकामनाएं दी। उन्होंने युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि पर्यटन एक विशाल क्षेत्र है। चमोली जनपद में साहसिक पर्यटन, ईको टूरिज्म, बॉर्डर टूरिज्म, वर्ल्ड वाचिंग, कैपिंग, सांस्कृतिक एवं धार्मिक पर्यटन, कृषि व उद्यान पर्यटन, जंगल पर्यटन, ग्रामीण पर्यटन, जल पर्यटन की अपार संभावनाएं है। कर्णप्रयाग रेल परियोजना पूरी होने पर लाखों की संख्या में पर्यटक सीधे चमोली आएंगे। ऐसे में पर्यटकों को यहॉ पर रहने के लिए होम स्टे, होटल सहित पर्यटकों स्थलों की जानकारी के लिए एक अच्छे गाइड की जरूरत होगी। इसमें युवाओं को करियर बनाने का सुनहरा अवसर है।

जिला पर्यटन अधिकारी सोबत सिंह राणा ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि 31 युवाओं को गाइड का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिसमें 30 युवा और एक युवती शामिल है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के माध्यम से युवाओं को एक अच्छा गाइड बनने के लिए हर तरह का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान उर्गम, रूद्रनाथ, औली, तुंगनाथ, मंडल आदि स्थानों का फिल्ड विजिट भी कराया जाएगा।

पर्यटक गाइड प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर हेमवती नन्दन गढ़वाल विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. आरसी भट्ट, प्रो. डीआर पुरोहित, प्रो.अमित कुमार जायसवाल, प्रो.डॉ सर्वेश उनियाल, प्रो.डॉ अमित भट्ट, पीजी कॉलेज के प्रोफेसर एवं प्रशिक्षण ले रहे युवा मौजूद थे।