Home उत्तराखंड त्रिस्तरीय पंचायत क्षमता विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्राम प्रधानों का प्रशिक्षण...

त्रिस्तरीय पंचायत क्षमता विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्राम प्रधानों का प्रशिक्षण हुआ शुरू

47
0

चमोली : मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे की अध्यक्षता में शनिवार को त्रिस्तरीय पंचायत क्षमता विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत विकासखंड दशोली के समस्त ग्राम प्रधानों का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू हुआ। जिसमें पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों को अधिनियमों, कार्यो, दायित्वों, क्रियाकलापों एवं विभाग में संचालित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन, संचालन एवं अनुश्रवण के संबध में विस्तृत जानकारी दी गई। क्षमता विकास कार्यक्रम के प्रशिक्षण हेतु शासन स्तर से नियुक्त भुवनेश्वरी महिला आश्रम गैरसैंण के माध्यम से विकासखंड दशोली सभागार में प्रशिक्षण प्रारम्भ किया गया।

मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में निर्वाचित पदाधिकारियों को मनरेगा, आवास, राज्य वित्त एवं 14वें वित्त सहित केन्द्र, राज्य एवं जिला सेक्टर की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने ग्राम प्रधानों से अपने अपने गांव में ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) के अनुसार कार्य करने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में ग्राम प्रधानों, दूसरे चरण में निर्वाचित क्षेत्र पंचायत सदस्यों तथा तीसरे चरण में न्याय पंचायत स्तर पर वार्ड सदस्यों को क्षमता विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार चन्याल ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की महत्ता पर अपने विचार रखे।

जिला पंचायत विकास अधिकारी राजेन्द्र सिंह गुंजयाल ने प्रशिक्षण कार्यक्रम हेतु निर्धारित कार्यवृत की जानकारी देते हुए सभी प्रधानों को प्रशिक्षण में उपस्थित रहने की अपील की। ताकि विकास योजनाओं को धरातल पर उतारा जा सके।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रभारी खंड विकास अधिकारी मोहन जोशी, सहायक खंड विकास अधिकारी पंचायत बीपी ममगाई, सहायक खंड विकास अधिकारी शिवसिंह भण्डारी सहित रेखीय विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन आशीष पंत द्वारा किया गया।