Home उत्तराखंड प्रसूता ने पैदल रास्ते मे बच्चे को दिया जन्म

प्रसूता ने पैदल रास्ते मे बच्चे को दिया जन्म

30
1

गोपेश्वर, प्रसूता ने गांव के पैदल रास्ते मे दिया बच्चे को जन्म,
चमोली। जिले की निजमूला घाटी में रविवार को सरकार की सड़क और स्वास्थ्य को लेकर दूरस्थ गांवों में व्यवस्था के दावों की एक बार फिर पोल खुल गई है। यहां क्षेत्र के भनाली गांव की प्रसूता का प्रसव पैदल रास्ते पर हो गया है। हालांकि प्रसव के बाद प्रसूता और नवजात स्वस्थ हैं।
निजमूला घाटी की ग्राम पंचायत ईराणी के भनाली गांव निवासी मुकेश राम की 24 वर्षीय पत्नी मीना को रविवार को प्रसव पीड़ा शुरु हो गई। प्रसूता की स्थिति बिगड़ती देख ग्रामीणों ने पालकी के सहारे महिला को चिकित्सालय पहुंचाने के लिये कंधों पर ढोकर चिकित्सालय लाने की योजना बनाई। गांव से 2 किमी की दूरी पार करने के बाद मीना की प्रसव पीड़ा को बढता देख महिलाओं ने ग्वादिक गदेरे में उसका सुरक्षित प्रसव कराया। जिसके बाद ग्रामीण प्रसूता और नवाजात को वापस गांव ले गये हैं। स्थानीय निवासी रणजीत कुमार, हिंवाली देवी, जेठुली देवी, हेमा देवी, गुड्डी देवी, सुला देवी, गणेशी देवी का कहना है कि गांव में सड़क और स्वास्थ्य की सुविधा न होने से जहां प्रसव के दौरान महिलाओं को खासी दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। वहीं नियमित जांच भी गर्भवती महिलाओं के लिये किसी चुनौती से कम नही हैं।

Comments are closed.