Home उत्तराखंड बैंकर्स ओर रेखीय विभाग आपस मे बनाएं सामांजस्य: सीडीओ

बैंकर्स ओर रेखीय विभाग आपस मे बनाएं सामांजस्य: सीडीओ

11
0

*चमोली: जिला स्तरीय पुनरीक्षण समन्वय समिति (डीएलआरसी) की त्रैमासिक बैठक बुधवार को विकास भवन सभागार में मुख्य विकास अधिकारी अभिनव शाह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें बैंकिंग सुविधाओं के साथ ही सरकार द्वारा प्रायोजित स्वरोजगार योजनाओं में ऋण आवंटित करने और सभी बैंक खाताधारकों को शत प्रतिशत डिजिटल लेनदेन हेतु सक्षम बनाने के निर्देश दिए गए।
मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया कि बैकर्स एवं रेखीय विभाग सामंजस्य बनाते हुए संचालित सरकारी योजनाओं के तहत अधिक से अधिक पात्र लोगों को ऋण आवंटित करना सुनिश्चित करें। विकास विभागों के माध्यम से संचालित बैंक प्रायोजित योजनाओं में शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया जाए। बैंकों में लंबित ऋण आवेदनों का त्वरित निस्तारण करें। किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए विभाग किसानों से आवेदन लेकर बैंकों को उपलब्ध करें। केसीसी के माध्यम से बैंक अधिक से अधिक किसानों को ऋण उपलब्ध करें।
सीडी रेश्यों की धीमी प्रगति पर नाराजगी जताते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिए कि जिन बैंकर्स का सीडी रेश्यों (ऋण जमा अनुपात) 40 प्रतिशत के मानक से कम है, वो सीडी रेश्यों में सुधार लाना सुनिश्चित करे। साथ ही स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं वित्तीय जानकारी प्रदान करने के लिए विशेष कैंप लगाने के निर्देश दिए। इस दौरान पीएम स्वनिधि, पीएमईजीपी, पीएम मुद्रा योजना, स्पेशल कम्पोनेंट प्लान, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, होम-स्टे, वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार आदि योजना के तहत बैंकों में लंबित आवेदनों की विस्तृत समीक्षा करते हुए बैकर्स एवं विभागों को जरूरी दिशा निर्देश दिए गए।
बैठक में लीड बैंक अधिकारी जीएस रावत ने बताया कि दिसम्बर 2023 तिमाही में जनपद का ऋण जमा अनुपात 32.84 प्रतिशत है। वर्तमान में जनपद में 18 बैंक की 100 शाखाएं, 64 एटीएम व 260 इंडिया पोस्ट पैंमेंट बैंक वित्तीय सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। वहीं दिसम्बर तक वित्तीय साक्षरता केन्द्रें द्वारा 378 शिविरों का आयोजन कर 4786 लोगों द्वारा प्रतिभाग किया गया। वहीं इस वित्तीय वर्ष में किसान क्रेडिट योजना में 3026 ऋण आवेदनों को स्वीकृत कर वितरित किया गया है। एमएसवाई में 883 आवेदकों, एमएसवाई नैनो में 94 प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में 126 आवेदकों को ऋण वितरण किया गया है। वहीं वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना के वाहन मद में 8, गैर वाहन मद में 6 तथा होमस्टे में 25 ऋण आवेदनों को स्वीकृत कर ऋण वितरण किया गया।
बैठक में डीडीओ केके पंत, डीडीएम नाबार्ड श्रेयांश जोशी, एलडीएम जीएस रावत सहित सभी बैंकों के प्रबंधक एवं रेखीय विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।