Home उत्तराखंड हर्षोल्लास के साथ मनाया गया कारगिल विजय दिवस

हर्षोल्लास के साथ मनाया गया कारगिल विजय दिवस

8
0

*चमोली :शौर्य एवं पराक्रम का उत्सव ‘‘कारगिल विजय दिवस’’ जनपद में बडे हर्षोल्लास से मनाया गया। जिला पंचायत परिसर में मुख्य अतिथि जिलाधिकारी हिमांशु खुराना सहित जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल (से.नि.) भास्कर बनर्जी, नगर पालिका अध्यक्ष पुष्पा पासवान और तमाम जिला स्तरीय अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य नागरिकों ने कारगिल शहीदों के चित्रों पर माल्यार्पण करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। पुलिस एवं एनसीसी जवानों ने शहीदों को सलामी दी। कारगिल युद्ध में देश के 527 जिसमें उत्तराखंड राज्य के 75 और चमोली जनपद के 11 जवानों ने अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया था। ब्लाक स्तरों पर भी शौर्य दिवस पर पौधरोपण सहित विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए।

शौर्य दिवस पर जिला पंचायत में आयोजित कार्यक्रम में कारगिल शहीद नायक दिलवर सिंह के भतीजे रोहित, शहीद राइफल मैन अमित नेगी के चाचाजी बलवंत सिंह, शहीद सिपाही हिम्मत सिंह के परिजन विक्रम सिंह, शहीद नायक आनंद सिंह के भाई खुशाल सिंह को अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्रीलंका में लिबरेशन तमिल टाइगर के उग्रवादियों से लोहा लेते हुए शहीद राइफल मैन सुरेन्द्र सिंह की पत्नी शांति देवी, नायक आनंद सिंह की पत्नी कला देवी एवं शहीद सैनिक जगदीश प्रसाद पुरोहित पत्नी ऊषा देवी को भी सम्मानित किया गया।
 
जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने देश के अमर शहीदों को नमन करते हुए कहा कि हमें गर्व है कि हम अपने देश के अमर शहीदों की शहादत से खुली हवा में सांस ले रहे है। उन्होंने सभी को सैनिकों के अदम्य साहस एवं शौर्य गाथाओं से प्रेरणा लेने की बात कही।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल (से.नि.) भास्कर बनर्जी ने कारगिल शहीदों के सम्मान में उनकी वीरगाथा एवं जीवनी पर प्रकाश डाला। कहा कि कारगिल के दुर्गम क्षेत्र में पाकिस्तानी सेना के घुसपैठियों व सैनिकों को 26 जुलाई को भारतीय सैनिकों ने अपने अदम्य साहस का प्रदर्शन करते हुए मार भगाया। कारगिल युद्ध में देश की सीमाओं की रक्षा के लिए वीर सैनिकों के बलिदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष पुष्पा पासवान, लीग अध्यक्ष कर्नल (से.नि.) डीएस वर्त्वाल, एनसीसी कमांडेंट कर्नल राजेश रावत, सहायक अधिकारी जिला सैनिक कल्याण सुबेदार मेजर (से.नि.) कलम सिंह, सीईओ कुलदीप गैरोला, सामाजिक कार्यकर्ता डीपी पुरोहित सहित गणमान्य नागरिकों ने भी कारगिल शहीदों को नमन करते हुए अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन अनूप खण्डूरी एवं कुंवर सिंह रावत द्वारा किया गया।

समारोह में स्थानीय विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति गीतों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इस दौरान कारगिल दिवस की पूर्व संध्या पर संपन्न वॉलीबॉल प्रतियोगिता की विजेता वॉलीबॉल हॉस्टल तथा उपविजेता स्पोर्ट्स ट्रेनीज टीम के खिलाड़ियों को मेडल देकर सम्मानित किया गया।