Home उत्तराखंड चमोली करंट हादसे की मजिस्ट्रियल जांच पूरी, जिलाधिकारी को सौंपी गई रिपोर्ट

चमोली करंट हादसे की मजिस्ट्रियल जांच पूरी, जिलाधिकारी को सौंपी गई रिपोर्ट

11
0

चमोली: 19 जुलाई 2030 को जनपद चमोली के चमोली कस्बे में नमामि गंगे के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट मैं करंट लगने शेष लोग उन लोगों की मौत हो गई थी और 12 लोग घायल हो गए थे जिसके बाद शासन की ओर से मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश किए गए शुक्रवार को अपर जिलाधिकारी अभिषेक त्रिपाठी द्वारा जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी हिमांशी खुराना को सौंपी गई संक्षिप्त रूप में जिला प्रशासन ने बताया कि इसमें बहुत सारी खामियां पाई गई है नमामि गंगे परियोजना के अनुबंध के अनुसार कंपनी द्वारा बहुत सारी लापरवाही आंकी गई जिसमें विद्युत संबंधी खामियां पाई गई सीवर प्लांट में मानकों के अनुसार अर्थिंग नहीं बिछाई गई है अनुबंधित फर्म द्वारा किए गए कार्यों के अनुश्रवण की समीक्षा नहीं की गई है वही जल संस्थान और विद्युत विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की आपसी सामंजस्य न होने के चलते घोर लापरवाही भी सामने आ रही है जल संस्थान द्वारा जारी किए गए बिल और बाउचर में खामियां पाई गई हैं एसटीपी प्लांट पर दिनांक 19 जुलाई 2023 को गठित भीषण दुर्घटना के संबंध मुख्य जिम्मेदार संबंधित ज्वाइंट वेंचर फर्म के विरुद्ध अनुकूल दंडात्मक कार्यवाही किए जाने की संस्तुति की जाती है साथ ही भास्कर महाजन डायरेक्टर के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की संस्तुति दी है अब देखने वाली बात होगी कि 1970 पन्नों की इस जांच रिपोर्ट में किस तरह से प्रशासन की ओर से जांच की गई है और इस तरह की लापरवाह तंत्र पर किस तरह की सजा मुकर्रर होती है