Home उत्तराखंड बद्रीनाथ हाइवे से ढाबे हटाने के नोटिस पर ढाबे संचालको में खलबली

बद्रीनाथ हाइवे से ढाबे हटाने के नोटिस पर ढाबे संचालको में खलबली

11
0

चमोली: एन एच आई डीसीएल ने चारधाम यात्रा मार्ग पर ढाबे, ठेलियां, रेवड़ी वालों को हटाने के नोटिस जारी किए जिसके विरोध में कांग्रेस संगठन के साथ स्थानीय व्यपारियों ने जिला अधिकारी को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया कि जोशीमठ विकासखण्ड सीमान्त विकासखण्ड है,। वर्तमान समय में बद्रीनाथ हेमकुंड यात्रा के दौरान सडक मार्ग से हटकर लोकल ग्रामीण जन मानस रोजगार हेतु ढाबों का संचालन करती है। जिसमें कि लोकल ग्रामीण गरीब लोग सीजनल लोकल फल खुमानी, आडू, ककड़ी एवं चाय, एवं लोकल मढवे से अपना जीवन यापन करतें है। बद्रीनाथ मार्ग के किनारें छोटें ढाबों से यात्रीयों को भी नाश्ता खाना, चाय इत्यादि की उपलब्धता आसानी से हो जाती है तथा यात्रा सुगम्य रहती है, जोशीमठ भौगोलिक परिस्थितियों से भी दूरस्थ एवं रोजगार से भी वंचित ब्लॉक है, यहा के निवासी यात्रा पर ही अपना रोजगार एवं गुजारा करते है। यात्रा पर ही अपना जीवन यापन करने के लिए निर्भर रहते है वर्तमान समय में NHIDCL द्वारा ढाबा संचालको को नोटिस जारी किया गया है, कि वे अपना अस्थाई कच्चा ढाबा हटा दें। एनएच के इस निर्णय से ग्रामीणों के ऊपर जीवन यापन का संकट गहरा जायेगा। जिनमें कि छोटे-मोटे लोकल उत्पादों को बेचकर ये ढाबा संचालन करने वाले ग्रामीण अपने परिवार का भरण पोषण कर पाते है।
उन्होंने कहा कि प्रशासन एनएच के इस निर्णय पर पुनर्विचार करें।

सुशील वर्मा डीजीएम एनएच आई डीसी एल का कहना है कि सड़क किनारे अतिक्रमण करने वाले अवैध रूप से बने ढाबे ओर रेवड़ी व ठेली को चिन्हित किया गया, यह कार्रवाई न्यायालय के निर्देशो पर की जा रही है।
इस दौरान जिला पंचायत सदस्य सूरज सैलानी, कमल रतूड़ी, नवनीत सती, सुरेंद्र ,भरत सिंह कुंवर,बद्री लाल,जसपाल आदि मौजुद रहे।