Home उत्तराखंड पार्किंग का प्रस्ताव निरस्त करने पर गुस्साए लोगों ने जिलाधिकारी को सौंपा...

पार्किंग का प्रस्ताव निरस्त करने पर गुस्साए लोगों ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

3
0

जिला मुख्यालय गोपेश्वर में जाम की समस्या आम है जिसको लेकर जिला प्रशासन और स्थानीय लोगों के संघर्ष के बाद थाना गोपेश्वर के पास में पार्किंग का प्रस्ताव शासन को भेजा गया था इस पार्किंग के ऊपर 50 बेड का अस्पताल बनना प्रस्तावित है स्थानीय लोगों की मांग थी कि बेसमेंट में पार्किंग की सुविधा हो जिससे नगर की जाम की समस्या से लोगों को निजात मिल पाए की वर्तमान समय में यहां पर स्थानीय लोगों और स्थानीय प्रशासन के पार्किंग के प्रस्ताव को अस्वीकार किया गया है और केवल भवन निर्माण कर किया जा रहा है जिससे नाराज लोगों ने मुख्यमंत्री और शासन के उच्च अधिकारियों को मामले में ज्ञापन भेजा

पूर्व सदस्य राज्य योजना आयोग डीपी पुरोहित ने बताया कि स्थानीय लोगो ओर प्रशासन के अथक प्रयास से गोपेश्वर के पुराने सीतापुर आँख के अस्पताल की भूमि पर जिला अस्पताल के नयें ब्लाक के लिये धनराशि की स्वीकृति के साथ साथ कार्यदाई संस्था सिंचाई विभाग के निर्माण विंग को इसके निर्माण की जिम्मेदारी दी गई है जिसका निर्माण कार्य भी प्रारम्भ हो चुका है। ज्ञात हुआ है कि इस निर्माणाधीन भवन में निर्माण एजेन्सी द्वारा भूतल पर पार्किंग का प्राविधान नहीं किया गया है जबकि पूर्व प्रस्ताव के अनुसार आर्किटैक्ट के माध्यम से जो डिजाइन तैयार कराया गया था उसमें भूतल पर पार्किग का प्राविधान था ।
सर्व विदित है कि गोपेश्वर में पार्किंग की बहुत बडी समस्या है और जिला अस्पताल में भी पार्किंग की सुविधा न होने के कारण वहाँ पर मरीजों को वाहनों से पहुचाने और उनके तीमरदारों को भी अत्यधिक कठिनाई हो रही है। इसी विन्दु को मध्य नजर रखते हुये स्थानीय लोगों द्वारा नव निर्माण में भूतल पर केवल पार्किंग की सुविधा प्रदत्त कराने हेतु आपसे अनुरोध किया गया था। कार्यदाई संस्था की इस लापरवाही के कारण स्थानीय लोगों एवं जनप्रतिनिधियों में भी रोष है ।
मामले में गम्भीरता से विचार करते हुए पूर्व प्रस्ताव को यथावत रखते हुए पार्किंग का प्रावधान किया जाय अन्यथा नगर वासी मामले में अग्रिम कार्रवाई करने को मजबूर होंगे।चन्द्रकला तिवारी,राजीव कुमार सोनी,महेंद्र राणा,गोविंद सिंह राणा,महावीर सिंह पंवार आदि मौजूद रहे।