Home उत्तराखंड महाविद्यालय गोपेश्वर में हिंदी दिवस पर आयोजित की गोष्ठी

महाविद्यालय गोपेश्वर में हिंदी दिवस पर आयोजित की गोष्ठी

9
0

चमोली: राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हिंदी विभागीय परिषद द्वारा हिंदी दिवस मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में संयोजक डॉ दिगपाल कंडारी द्वारा हिंदी दिवस के महत्व एवं अनिवार्यता पर प्रकाश डाला गया। उन्होंने भाषा के सभी पहलुओं पर विचार किया। आयोजन में राजनीति विज्ञान के डॉ मनीष कुमार मिश्रा ने कहा कि हिंदी राष्ट्र संवाद की भाषा है। स्वतंत्रता आंदोलन से अब तक हिंदी पर्याप्त विकसित हुई है और शीघ्र वैश्विक भाषा बन जाएगी। विशाल भारतीय बाजार और विदेशों में भारतीयों की उपस्थिति से यह संभव है। अंग्रेजी विभाग के डॉ दिनेश सिंह पंवार ने कहा कि भाषा का मुख्य उद्देश्य संप्रेषण है और हिंदी भारत में संवाद और अभिव्यक्ति की प्रचलित भाषा है। इस अवसर पर डॉ राजबिलोचन नैथानी द्वारा हिंदी भाषा से जुड़े तथ्य और सूचनाएं उपलब्ध कराई गई। एमए हिंदी के विजय, अंजलि , मोहित, सूरज, प्रमिला, मनीषा और बीए के अर्चना, प्रिया द्वारा भाषण, स्वरचित गीत और कविताओं को प्रस्तुत किया।