Home उत्तराखंड 20मई को खुलेंगे हेमकुण्ड साहिब के कपाट, आस्था पथ पर बर्फ के...

20मई को खुलेंगे हेमकुण्ड साहिब के कपाट, आस्था पथ पर बर्फ के बीच रोमांच से भरी रहेगी यात्रा

26
0

चमोलीः 20 मई को सिखों के प्रसिद्ध धाम हेमकुण्ड साहिब के कपाट खुलने हैं जिसको लेकर जिला प्रशासन और गुरूद्वारा प्रबन्धन समिति लगातार यात्रा व्यवस्थाओं में जुटी हुई है। शनिवार को जिला अधिकारी चमोली हिमांशु खुराना, पुलिस अधीक्षक चमोली प्रमेन्द्र डोभाल प्रशासनिक अमले के साथ यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने हेमकुण्ड साहिब पहुंचे जहंा पर अभी भी 6से 8 फीट बर्फ जमी हुई है।
15हजार फीट की उंचाई पर स्थिति प्राकृतिक सोंन्दर्य के बीच बसे सिखों के प्रसिद्ध धाम वर्तमान समय में बर्फ से लकदक बना हुआ है। 20 मई से श्री हेमकुण्ड साहिब के कपाट खुलने हैं जिसकों लेकर धाम से बर्फ हटाने का कार्य जारी है, बर्फ की अधिकता और मौसम के बदलते मिजाज के कारण गुरूद्वारा प्रबंधन समिति के साथ प्रशासन के लिए भी यात्रा को सुगमता से शुरू करना चुनौतीपूर्ण बना हुआ है।

20 अप्रैल से 218 इंडिपेंडेट कोर इंजीनियर सेना के जवान हेमकुण्ड साहिब आस्था पथ से बर्फ हटाने का कार्य रहे हैं लेकिन इस बार मौसम के बदले मिजाज के कारण मई माह में भी हर दिन उंचाई वाले स्थानों पर बर्फ वारी हो रही है जिसके चलते हेमुण्ड साहिब के आस्था पथ से बर्फ हटाने में सेना के जवानों को खासी मशक्कत करनी पडी है।
उप जिलाधिकारी जोशीमठ कुमकुम जोशी ने बताया कि हेमकुण्ड साहिब यात्रा मार्ग पर व्यवस्थाओं केा अंतिम रूप दे दिया गया है उन्होेने बताया कि रास्ते में बर्फ अधिक होने के चलते यात्रा के शुरवाती हफते में दिक्कतें रह सकती है। लेकिन यात्रा मार्ग पर मूल भूत आवश्यकताओं केा पूरा कर लिया गया है, अत्यधिक ठंडा होने के कारण गर्म पानी की चरियां का निर्माण किया जा रहा है। वहीं घोडे खच्चर संचालकों के लिए पुशपालन विभाग को आवश्यक निर्देश जारी किये गये है। मार्ग पर अत्यधिक बर्फ और ठंड को देखते हुए गोविंद घाट में यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुआंे का स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा और स्थिति सामान्य होने तक उन्हीं श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति दी जायेगी जो पूर्ण रूप से स्वास्थ हों।
वहीं पुलिस उपाधीक्षक चमोली प्रमोद शाह का कहना है कि यात्रा के सफल संचालन हेतु पुलिस प्रशासन की ओर से अतिरक्त पुलिस बल तैनात किया गया है जिसमें गोविंदघाट, पुलना और भ्यूंडार में पुलिस के जवान तैनात रहेंगे। आपदा की दृष्टिगत एसडीआरएफ की टीम में यात्रा मार्ग पर तैनात रहेंगी, जो श्रद्धालुओं को बर्फ के रास्तों पर मदद करंेगी।