Home उत्तराखंड हाईस्कूल में 85.17 व इंटरमीडिएट में 80.98 फीसदी रहा कुल परीक्षाफल

हाईस्कूल में 85.17 व इंटरमीडिएट में 80.98 फीसदी रहा कुल परीक्षाफल

8
0

प्

*उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद के बोर्ड परीक्षा परिणाम घोषित*

देहरादून,सूबे के विद्यालयी शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत की मौजूदगी में आज उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम घोषित कर दिया गया है। परिषदीय परीक्षा-2023 के तहत हाईस्कूल का कुल परीक्षाफल 85.17 प्रतिशत जबकि इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम 80.98 प्रतिशत रहा। विभागीय मंत्री डा. रावत ने बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुये उन्हें बेहतर भविष्य के लिये शुभकामनाएं दी। उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं के सफल आयोजन और समय पर परीक्षाफल जारी करने के लिये विभागीय अधिकारियों एवं शिक्षकों की पीठ थपथपाई, साथ ही उन्होंने अगले वर्ष बोर्ड परीक्षा परिणाम 30 अप्रैल को घोषित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

विद्यालयी शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने आज माध्यमिक शिक्षा निदेशालय, देहरादून में विद्यालयी शिक्षा बोर्ड की परिषदीय परिक्षाओं का परीक्षाफल जारी किया। उन्होंने बताया कि इस वर्ष 10वीं व 12वीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाओं का परीक्षाफल बेहतर रहा है। हाईस्कूल में जहां कुल परीक्षाफल 85.17 फीसदी रहा वहीं इंटरमीडिए में 80.98 फीसदी रहा। उन्होंने बताया कि हाईस्कूल में बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 81.48 व बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 88.94 है। इसी प्रकार इंटरमीडिएट में बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 78.48 तथा बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.49 रहा है। बोर्ड परीक्षाओं में बालिकाओं के बेहतर प्रदर्शन पर खुशी जाहिर करते हुये डा. रावत ने कहा कि लड़कियां अब हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है जोकि महिला सशक्तिकरण की दिशा में शुभ संकेत हैं। विभागीय मंत्री ने बताया कि हाईस्कूल में इस वर्ष 1 लाख 27 हजार 844 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी जिनमें एक लाख 8 हजार 890 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुये। जिसमें संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 85.58 जबकि व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 56.16 रहा है। ऐसे ही इंटरमीडिएट की परीक्षा में 1 लाख 23 हजार 945 परीक्षार्थी सम्मिलित हुये जिनमें से एक लाख 380 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुये। इसमें संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 81.46 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 64.28 रहा। डा. रावत ने 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण व प्रदेश की संयुक्त श्रेष्ठता सूची में स्थान प्राप्त करने वाले सभी छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को बधाई दी। उन्होंने बोर्ड परीक्षा में फेल होने वाले छात्र-छात्राओं को दोबारा कड़ी मेहनत कर अच्छे अंकों से पास होने लिये प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि जो छात्र-छात्राएं एक या दो विषय में फेल हुये हैं, उन्हें शीघ्र ही अंक सुधार परीक्षा देने का मौका दिया जायेगा। विभागीय मंत्री डा. रावत ने बोर्ड परीक्षा के सुचारू संचालन एवं परीक्षाफल निर्माण में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप सहयोग करने वाले सभी अधिकारियों, शिक्षकों एवं कर्मचारियों को बधाई दी।

इस अवसर पर विद्यालयी शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने कहा कि कोविड महामारी से उपजी विषम परिस्थितियों के बाद भी बोर्ड परीक्षा में बच्चों ने बेहतर प्रदर्शन किया। इसके लिये सभी परीक्षार्थीयों व उनके अभिभावक एवं शिक्षक बधाई के पात्र हैं। उन्होंने बोर्ड परीक्षा कार्यों में संलग्न सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का भी धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस दौरान अपर निदेशक माध्यमिक महावीर सिंह बिष्ट, अपर परियोजना अधिकारी समग्र शिक्षा डा. अतुल सती सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे जबकि सचिव उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद रामनगर डा0 नीता तिवारी एवं अन्य अधिकारियों ने रामनगर से वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

*बॉक्स*
*अगले वर्ष 30 अप्रैल को जारी होगा बोर्ड रिजल्टः डा. धन सिंह रावत*
विद्यालयी शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि अगले वर्ष बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट 30 अप्रैल को घोषित किया जायेगा। इसके लिये उन्होंने विभागीय अधिकारियों को अभी से तैयारियां शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्यालयी शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों को मूल्यांकन की अवधि कम करने व परीक्षा संबंधी कार्यों में अधिक कार्मियों की ड्यूटी लगाने को कहा, साथ ही उन्होंने विभागीय अधिकारियों को एक माह के भीतर परीक्षा आयोजन को लेकर कैलेंडर तैयार कर अनुमोदन लेने को कहा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि 10वीं व 12वीं कक्षाओं के बोर्ड रिजल्ट समय पर जारी किये जाये, ताकि छात्र-छात्राओं को देशभर के उच्च शिक्षण संस्थानों में एडमिशन लेने में परेशानी न हो।

*अनुतीर्ण छात्रों को मिलेगा अंक सुधार परीक्षा का मौका*
डा. धन सिंह रावत ने बताया कि 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा में एक या दो विषयों में अनुतीर्ण हुये छात्र-छात्राओं को अंक सुधार परीक्षा का मौका दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षा में सैकड़ों छात्र एक व दो विषयों में बहुत कम अंकों से फेल हो जाते हैं ऐसे छात्र-छात्राओं को राज्य सरकार ने अंक सुधार परीक्षा देने की पहल की है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में शीघ्र बैठक आयोजित कर इसी सत्र में परीक्षा कराने के निर्देश दिये।

*शिक्षा मंत्री ने की टॉपर छात्रों से बात*
बोर्ड परीक्षा परिणाम घोषित करने के उपरांत शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के टॉपर छात्र-छात्राओं से बात की। इस दौरान उन्होंने हाईस्कूल में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले बी.एच.एस.वी.एम कंडीसौड, छाम टिहरी गढ़वाल के छात्र सुशांत चन्द्रवंशी से बात कर उन्हें प्रथम स्थान प्राप्त करने पर बधाई दी। डा. रावत ने सुशांत को भविष्य में भी इसी तरह सफलता प्राप्त कर राज्य व देश का नाम रोशन करने को कहा। विभागीय मंत्री ने इंटरमीडिएट परीक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली राजकीय बालिका इंटर कॉलेज चिन्यालीसौड़ उत्तरकाशी की छात्रा हिमानी से बात कर इस उपलब्धि के उन्हें बधाई दी।

*बोर्ड परीक्षा में इन छात्रों ने मारी बाजी*
हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा की श्रेष्ठता सूची में 99 फीसदी अंक लाकर बी.एच.एस.वी.एम कंडीसौड, छाम टिहरी गढ़वाल के छात्र सुशांत चन्द्रवंशी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, जबकि एसवीएमआईसी आवास विकास ऋषिकेश देहरादून के छात्र आयुष सिंह रावत एवं एसवीएमआईसी रूद्रपुर ऊधमसिंह नगर के छात्र रोहित पाण्डेय ने 98.80 प्रतिशत अंक हासिल कर संयुक्त रूप से द्वितीय स्थान प्राप्त किया। वहीं तृतीय स्थान बी.एच.एस.वी.एम कंडीसौड, छाम टिहरी गढ़वाल की छात्रा शिल्पी ने 98.60 फीसदी अंक लाकर प्राप्त किया। इसी प्रकार इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में आरएलएस चौहान एसवीएमआईसी जसपुर ऊधमसिंहनगर की छात्रा तनु चौहान ने सर्वोच्च अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान हासिल किया उन्होंने 97.60 प्रतिशत अंक अर्जित किये। वहीं द्वितीय स्थान राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की चिन्यालीसौड़ उत्तरकाशी की छात्रा हिमानी ने 97 फीसदी अंक लाकर प्राप्त किया। तृतीय स्थान एसवीएम इंटर कॉलेज सितारगंज ऊधमसिंह नगर के छात्र राज मिश्रा ने 96.60 प्रतिशत अंक लाकर प्राप्त किया।