Home उत्तराखंड हमारे धार्मिक ग्रंथ भी देते हैं वन्य जीवों के संरक्षण का संदेश

हमारे धार्मिक ग्रंथ भी देते हैं वन्य जीवों के संरक्षण का संदेश

14
0

चमोली :वन्यजीव सप्ताह के अवसर पर सी.पी.भट्ट पर्यावरण एवं विकास केंद्र के तत्वाधान में नंदा नगर विकास खण्ड के दूरस्थ गांव मोख के राजकीय इंटर कालेज में वन्य जीवों की प्राकृतिक संतुलन में भूमिका विषय पर गोष्ठी के साथ ही चित्रकला एवं निबंध प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया।

गोष्ठी को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करते हुए समाजिक कार्यकर्ता मंगला कोठियाल ने कहा कि हमारी प्रकृति के संतुलन को बनाये रखने में प्रत्येक जीवधारी का अहम योगदान है। इसीलिए हमारे धार्मिक ग्रंथो में भी वन्य जीवों के महत्व को बड़ी गहराई से स्वीकार कर हमें ‘जीवों पर दया करो’ का संदेश दिया गया है। उन्होंने कहा कि, हमारे सभी देवी- देवताओं के वाहन वन्यजीव ही हैं। जो हमें प्रकृति में उनके महत्व को बतलाता है।

सी.पी.भट्ट पर्यावरण एवं विकास केंद्र के विनय सेमवाल ने कहा कि प्राकृतिक संतुलन को बनाये रखने में वन्यजीवों की महत्वपूर्ण भूमिका है। अकेले मानव इस प्रकृति के संतुलन को बनाये नही रख सकता है। प्रकृति के संतुलन को बनाये रखने के लिए हमें पृथ्वी पर पाये जाने वाले समस्त जीवों के अस्तित्व का समान कर उनके साथ सहस्तित्व की भावना के साथ रहना होगा। उन्होंने कहा कि,पृथ्वी पर जिस भी क्षेत्र की खाद्य श्रृंखला और जैव विविधता जितनी समृद्ध होती है उस क्षेत्र का पर्यावरण और पारस्थितिकी तंत्र उतना ही स्वस्थ और मजबूत होता है । किसी क्षेत्र की खाद्य श्रृंखला में से किसी भी एक जीवधारी के लुप्त हो जाने से उस क्षेत्र की खाद्य श्रृंखला का तारतम्य बिगड़ जाता है जिससे वहाँ की पारस्थितिकी में असंतुलन पैदा हो जाता है । परिणाम स्वरूप हमें कई पर्यावरणीय चुनौतियों का सामना करना पड़ता है

गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य हरीश फर्सवांण ने मानव और वन्यजीवों के मध्य बड़ते हुए संघर्ष पर कहा कि हमारे द्वारा खाद्य श्रृंखला में अनावश्यक हस्तक्षेप तथा वन्य जीवों के प्राकृतिक आवासों में अतिक्रमण करने का ही परिणाम है कि हमें आज इस प्रकार की गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है

इससे पूर्व कार्यक्रम में चित्रकला तथा निबंध प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले छात्र- छात्राओं को सी.पी.भट्ट पर्यावरण एवं विकास केंद्र द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान करने के साथ ही प्रतियोगिता में अब्बल आने वाली छात्राओं को नगद राशि के चैक प्रदान कर पुरुस्करित भी किया गया।

चित्रकला प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में कु अंजलि नें प्रथम कु. नैना रावत ने दूसरा और कु. आरती ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। जूनियर वर्ग में जू. हाई स्कूल मोख मल्ला की कु. सिमरन ने पहला मयंक ने दूसरा तथा कु. अर्पिता ने तीसरा स्थान प्राप्त किया।

निबंध प्रतियोगिता में अमित प्रसाद ने पहला, नमन सिंह ने दूसरा और कु. संध्या नें तीसरा स्थान प्राप्त किया।

इस दौरान कार्यक्रम में सी.पी. भट्ट.पर्यावरण एवं विकास केंद्र के प्रबंध न्यासी ओम प्रकाश भट्ट, प्रकाश जोशी,अनिल कुमार, दीवान सिंह कठैत,रोहित नेगी,पूजा नेगी,दर्शन सिंह रावत,दीपक कोहली,गजपाल टम्टा आदि के साथ ही विद्यालय के सभी छात्र मौजूद थे।