Home उत्तराखंड हवा में उड़ान भरेंगे पर्यटक!– साहसिक पर्यटन के लिए रोमांच से भरा...

हवा में उड़ान भरेंगे पर्यटक!– साहसिक पर्यटन के लिए रोमांच से भरा है लोहाजंग में 800 मीटर जिपलाइन का सफर..

29
0

लोहाजंग!
प्रकृति ने चमोली पर अपना सब कुछ न्योछावर किया है। यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य से लेकर तीर्थाटन, पर्यटन, आध्यात्म के लिए चमोली पर्यटकों की पहली पसंद हैं। जिस कारण से हर कोई यहाँ बरबस ही खींचा चला आता है। अब उत्तराखंड का चमोली जनपद साहसिक पर्यटन को लेकर पर्यटको की पहली पसंद बनता जा रहा है। चमोली का देवाल ब्लाॅक साहसिक पर्यटन के लिए अपनी अलग पहचान बनाने की ओर अग्रसर हो चला है, जिसके अंतर्गत सोमवार को देवाल के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल लोहाजंग में हाई एल्टीट्यूड जिपलाइन (हिमालयन ज़िपफ्लाई) का शुभारंभ हो गया है। और अब आने वाले दिनों में साहसिक पर्यटन और रोमांच के शौकीनों के लिए लोहाजंग प्रमुख पर्यटन स्थल बनने वाला है। वर्तमान में लोहाजंग ब्रह्मताल, भेकलताल, बेदनी बुग्याल, रूपकुंड ट्रेक, मोनाल ट्रैक, हिलकोट ट्रैक, ऑली बुग्याल का बेस कैंप है, जिस कारण पर्यटन से यहां हजारों लोगो का रोजगार जुडा हुआ है। अब यहां जिपलाइन बनने से पर्यटन बढेगा।

ये है लोहाजंग का हिमालयन जिपलाइन!

ग्राम सभा मुंदोली की प्रेमा देवी हिमालयन जिपलाइन की संचालिका है। इनके पति गब्बर सिंह भारतीय सेना में कार्यरत हैं। यह जिपलाइन 7800 फीट की ऊचाई पर बना है जिसकी लंबाई 800 मीटर और गहराई 130 मीटर है। प्रेमा देवी कहती हैं कि हिमालयन जिपलाइन का उदेश्य उत्तराखंड में साहसिक पर्यटन को बढावा देना और रोजगार के नयें अवसरों का सृजन करना है। महिलायें भी पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के अवसर को सृजित कर सकती है।


अभी तो एक छोटी कोशिश भर की है। वहीं गढभूमिं एडवेंचर के सीईओ हीरा सिंह गढवाली कहतें हैं कि लोहाजंग जैसे स्थान पर जिपलाइन का बनना भविष्य में पर्यटन की गतिविधियों को बढावा देगा जिससे स्थानीय लोगो को रोजगार के अवसर मिलेंगे साथ बी पर्यटक 12 महीनें हिमालय के विभिन्न नजारों का लुत्फ़ ले सकेंगे। हिमालय को करीब से जानने वालों के लिए ये जिपलाइन किसी रोमांच से कम नहीं है। इस जिपलाइन से पर्यटकों को हिमालय की हिमाच्छादितनयनाविराम चोटियों, बुग्यालों, जंगल, पेड़ों, जंगली जानवरों, पक्षियों के दीदार होंगे। उत्तराखंड में अभी तक देहरादून, मसूरी, शिवपुरी ऋषिकेश में ही जिपलाइन में पर्यटक रोमांच का आनंद लेते हैं। अब पहाडों में भी जिपलाइन से हवा में उड़ान भर सकेंगे पर्यटक।