Home उत्तराखंड जीवन के अनुभवों से डीएम चमोली ने दूर की युवाओं की...

जीवन के अनुभवों से डीएम चमोली ने दूर की युवाओं की परेशानी।

11
0

चमोली के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने ई-लाइब्रेरी के जरिए युवाओं के सपने साकार करने की राह खोल दी है। जिला मुख्यालय गोपेश्वर में पुस्तकालय का आधुनिकीकरण और नवीनीकरण कर पठन पाठन के लिए अत्याधुनिक व्यवस्थाएं की गई है। जिसका लाभ अब युवाओं को मिलने लगा है। यहां पर बच्चों के पठन-पाठन के लिए कम्प्यूटर, प्रोजेक्टर, फर्नीचर, रैक, राउंड टेबल, विभिन्न विषयों की 3610 नई किताबें रखी गई है। ई-पुस्तकालय की 33610 किताबों को कम्प्यूटराइज्ड कराया गया है। ई-लाइब्रेरी में वाई-फाई की सुविधा के साथ ही ऑडियो विजुअल रूम बनाया गया है। पुस्तकालय में बेहतरीन लाइटिंग, पेंटिंग और फ्लोर मैटिंग सहित अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया की गई है। हर रोज करीब 150 तक नियमित पाठक लाइब्रेरी पहुंच रहे है। लाइब्रेरी की सदस्यता भी 800 हो गई है।

जिलाधिकारी ने बताया कि घर पर पढ़ाई के लिए शांत माहौल मिलना अक्सर कठिन होता है। जब मैं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था तो मैने भी लाइब्रेरी में जाकर तैयारी की। लाइब्रेरी में पढ़ाई के लिए किताबों के साथ-साथ एकांत माहौल भी मिलता है। जनपद में युवाओं की सुविधा के लिए ई-पुस्तकालय के साथ वाई-फाई की सुविधा की गई है ताकि पाठकों को अपने सवालों का उत्तर भी तत्काल मिलता रहे।
 
*ई-लाईब्रेरी में पढते हुए अब तक 11 युवाओं ने हासिल की सरकारी नौकरी।*

जिला मुख्यालय गोपेश्वर में ई-लाइब्रेरी खुलने के बाद मात्र 18 महीनों में ही यहां पढ़ने वाले 11 युवाओं ने प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता पाकर सरकारी नौकरी हासिल की है। पुस्तकालयाध्यक्ष हिमांशु डंगवाल ने बताया कि गोपेश्वर की रीना नेगी को ग्राम विकास अधिकारी, नंदानगर के तांगला गांव के भुवन सिंह को पुलिस, गोपेश्वर पालिका क्षेत्र के सगर गांव के अनूप रावत को पटवारी, दशोली ब्लाक के डुंग्री गांव की रिया झिंक्वाण को ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, प्रिया तिवारी को पुलिस अग्निशमन, गोलिंग की सोनी गुसाई व रांगतोली की दीप्ति को पुलिस दूरसंचार, मनोज कुमार को पटवारी, पाडुली (गोपेश्वर) के मयंक नेगी को पटवारी, सौरभ सिंह को वन विभाग तथा रुद्रप्रयाग जनपद के किजणी गांव के अमित नेगी को वन विभाग में ई-लाइब्रेरी में अध्ययन के पश्चात नौकरी हासिल हुई है। आगे भी इसी तरह की उम्मीद है।

*डीएम ने दूरस्थ क्षेत्रों में भी ई-लाइब्रेरी खोलने का उठाया बीडा*

जिलाधिकारी ने अब जनपद के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में भी ई-लाइब्रेरी की कल्पना को साकार करने का बीड़ा उठाया है। डायट गौचर मे ई-लाइब्रेरी शुरू हो चुकी है। कर्णप्रयाग में ई-लाइब्रेरी बनकर तैयार है। जोशीमठ में ई-लाइब्रेरी भवन बन गया है। जबकि पोखरी में लाइब्रेरी बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है।

 
*विद्यालयों में उच्च स्तरीय शिक्षा के लिए भी डीएम ने उठाए कदम।*

जिलाधिकारी हिमांशु खुराना के प्रयासों से राजकीय इंटर कॉलेज गोपेश्वर में एक आधुनिक सुसज्जित एवं तकनीकी संसाधनों से युक्त गणित प्रयोगशाला स्थापित गई। जिसमें स्मार्ट बोर्ड, सीबीएसई पाठ्यक्रम की वीडियो ई कंटेंट, गणित से संबंधित मॉडल, सामग्री, मापक यंत्र, रोचक गणितीय अबेकस उपकरण, गणित प्रयोगशाला उपकरण व जूनियर, सीनियर और एडवांस किट आदि की व्यवस्था है। जबकि अंग्रेजी भाषा को सरल बनाने के लिए राजकीय इंटर कॉलेज माणा-घिंघराण में अनटाइड फंड से सुसज्जित, डिजिटल तकनीकी युक्त अंग्रेजी प्रयोगशाला स्थापित की गई। इस प्रयोगशाला में अंग्रेजी बोलने व सीखने, आधारभूत व्याकरण, उच्च श्रेणी व्याकरण और व्यावसायिक संवाद कौशल हेतु सॉफ्टवेयर आधारित व्यवस्था की गई है।