Home धर्म संस्कृति 200वर्ष बाद 3पीठों के शंकराष्चार्य एक साथ ज्योतिर्मठ में एक मंच...

200वर्ष बाद 3पीठों के शंकराष्चार्य एक साथ ज्योतिर्मठ में एक मंच पर होंगे

45
0

जोशीमठ: भारत के दक्षिण पश्चिम उतरा दिशा के सभी शंकराश्चर्यो का एक महासम्मेलन जोशीमठ में आयोजित होगा। 200वर्षों के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब तीन पीठों के शंकरश्चर्य हिमालय छेत्र में किसी स्थान पर एक साथ रहेंगे।
कार्यक्रम को लेकर ज्योतिर्मठ के शिष्यों के साथ स्थानीय लोगों में खासा उत्साह बना हुवा। स्वामी अविमुक्तेश्वरानन्द के शिष्य मुकुंदानंद ने बताया कि 17अक्टूबर को द्वारकाधीश के जगत गुरु शंकराचार्य श्री सदानन्द महाराज , श्रंगेश्वरी शारदा पीठ के विधुशेखर भारती जी, ज्योतिष्पीठाधीश्वर स्वामी अविमुक्तेस्वरानन्द सरस्तवती 16 को बद्रीनाथ धाम जी मे दर्शन करेगे।
17 को सुबह 9 बजे से अनुष्ठान कार्यक्रम के साथ शंकराचार्य के रथ बाध्य यंत्रो, पारंपरिक पौणा नृत्य के साथ रविग्राम मे कार्यकम आयोजित होगा और जगत गुरु षंकराचार्य के दर्शन करेगे। इस दौरान विश्व प्रसिद्ध रम्माण मोख्टा नृत्य की प्रस्तुति की जाएगी।इस अवसर पर ज्योतिष्पीठाधीश्वर शंकराचार्य के मीडिया प्रभारी श्री अशोक साहू जी, मठ प्रबन्धक विष्णुप्रियानन्द

ब्रहमचारी जी, साध्वी पूर्णम्बा जी, साध्वी शारदम्बा जी, धर्मान्सद श्री आनंद उपाध्याय जी धर्मान्सद श्री राज कुमार शर्मा,चमोली मंगलम प्रभारी श्री प्रकाश रावत जी, महिमानंद उनियाल जी, कुशलानंद बहुगुणा , डॉ अनिल मोहन शर्मा,पण्डित देवदत्त दुबे , राज कुमार शर्मा, राम सजीवन शुक्ला जी, मनीष मणि त्रिपाठी सहित महासम्मेलन के आयोजक गण उपस्थित रहे।