Home उत्तराखंड भतीजे की हत्या मामले में चाचा गिरफ्तार थाना थराली का मामला

भतीजे की हत्या मामले में चाचा गिरफ्तार थाना थराली का मामला

35
0

*बर्दाश्त न हुई भतीजे की ऐसी हरकत: शराब के नशे में हुई अनबन

गाली-गलौज व मारपीट का विरोध करने पर नशे में धुत भतीजे को चाचा ने उतारा मौत के घाट, थराली पुलिस ने किया गिरफ्तार

ग्राम सभा बैनोली रा0उ0नि0 क्षेत्र *तलवाडी में दिनांक 29.04.2023 की रात्रि को हुए नेपाली नागरिक मन बहादुर पुत्र गिरी निवासी थाना गरखागोट जिला जाजरकोट नेपाल उम्र 26 वर्ष की हत्याकाण्ड* के सम्बन्ध में रा0उ0नि0 क्षेत्र तलवाडी में पंजीकृत 01/23 धारा 302 भादवि बनाम भक्त बहादुर गिरी उर्फ भरत बहादुर की विवेचना रा0उ0नि0 क्षेत्र से नियमित पुलिस क्षेत्र को स्थानान्तरित हुयी । *श्रीमान पुलिस अधीक्षक चमोली प्रमेन्द्र डोबाल म के आदेश से विवेचना प्रभारी निरीक्षक थराली के सुपुर्द की गयी । घटना का तत्काल संज्ञान लेते हुये पुलिस अधीक्षक द्वारा घटना का शीघ्र अनावरण कर अभियोग का सफल निस्तारण करते हुये घटना में संलिप्त अभियुक्त की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु टीम गठित करने के लिये आदेशित किया गया। निर्गत आदेशों के क्रम में अमित कुमार सैनी पुलिस उपाधीक्षक कर्णप्रयाग के निर्देशन व प्रभारी निरीक्षक प्रभारी निरीक्षक देवेन्द्र सिह रावत के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की गयी।
गठित टीम द्वारा कुशल सुरागरसी पतारसी करते हुये पेशेवर पुलिसिंग को दर्शाते हुये छोटे- छोटे साक्ष्य एकत्रित करके तथा समस्त परिस्थितियों का आंकलन करते हुये सर्विलांस का कुशलता से प्रयोग कर पारिस्थितिक कठिनाईयो के विपरीत कार्य करते हुये दिनांक 09.05.2023 की सांय को वांछित अभियुक्त *भक्त बहादुर गिरी उर्फ भरत पुत्र हस्ते गिरी ग्राम रूवा वडा न0 08 नगरपालिका छेडा गाड थाना गरखागोट जिला जाजरकोट नेपाल उम्र 22 वर्ष* को कुराड जाने वाले मार्ग से गिरफ्तार किया गया । अभियुक्त को गिरफ्तार कर मा0न्या0 पेश किया जा रहा है।
*पूछताछ का विवरण-* गिरफ्तारी के पश्चात पूछताछ में बताया कि मृतक मनबहादुर व अभियुक्त नेपाल में एक ही स्थान के रहने वाले है तथा वह रिश्ते में अभियुक्त का भतीजा लगता था। दोनो व्यक्ति ग्राम बैनोली में गंगा सिंह की गौशाला में रह कर क्षेत्र में दिहाडी मजदूरी कर रहे थे। दिनांक 29.04.2023 को शाम के समय मनबहादुर द्वारा *अत्यधिक शराब पीने के पश्चात खाना खाते समय अभियुक्त भक्त बहादुर के साथ अत्यधिक व बिना कारण के गालीगलौच व मारपीट की गयी ।* तत्पश्चात अभियुक्त द्वारा मनबहादुर को जान से मारने की ठान ली । इसके लिये उसने कमरे मे लकडी की फन्टी अपने पास बिस्तर पर रख दी थी जब रात को मनबहादुर आया तो उसने अभियुक्त को चाचा कहकर दरवाजा खोलने को कहा तो अभियुक्त ने दरवाजा खोला तो मनबहादुर ने उसके साथ फिर मारपीट करने लगा तथा जिसपर क्रोधित होकर *अभियुक्त ने अपने पास रखी लकडी की फन्टी मनबहादुर के सिर पर 3-4 बार वार किया जिससे उसके सिर पर खून आने लगा तथा उसने मौके पर ही दम तोड दिया।* फिर उसके बाद अभियुक्त मौके से फरार हो गया तथा रात मे ही सुना गांव से होते हुये पैदल- पैदल कुलसारी गया । अगले दिन दिनांक 30.04.23 को अभियुक्त गाडी में बैठकर हरिद्वार चला गया था व हरिद्वार से नेपाल जाने की फिराक में था इसलिये रूपैडिया चला गया वहां मनबहादुर के परिवार के डर से नेपाल न जाकर वहां से वापस आया तथा अपने भाई व रिश्तेदार से सहायता मांगने हेतु कुराड गांव जा रहा था कि रास्ते से पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया ।

पुलिस टीम के उत्साहवर्धन के लिए पुलिस अधीक्षक द्वारा 2500/- रूपए के पुरुस्कार की घोषणा की गई।